India is struggling due to covid-19

Covid story

img_0.5285004847884152.jpg

img_0.04430741585819791.jpg

img_0.6465692873442483.jpg

img_0.42997627931401144.jpg

img_0.8491838165015619.jpg

Image source- all are google images.

कैसे हो मित्र मैं आशा करता हूं कि आप सब स्वस्थ होंगे और अच्छे होंगे!
मेरा आज का पोस्ट भारत में कोरोना की स्थिति के लिए है।
भारत कोरोना के विरुद्ध जंग लड़ रहा है जो पूरे भारत देश के लिए बहुत बड़ी समस्या बन चुका है।
लोगों ने शुरुआत में इसे नजरअंदाज कर दिया जिस कारण आज भारत की स्थिति भयानक दिख रही है।
भारत में रोजाना लगभग 2 लाख से अधिक कोरोना केस दिखते नजर आ रहे हैं जो कि कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं।
मैं भारत के राज्य उत्तराखंड का नागरिक हूं जोकि मौतों के आंकड़े में दूसरे स्थान पर खड़ा है कोविड-19 के कारण।
संपूर्ण देश में 2020 में लॉकडाउन से कुछ स्थिति में सुधार आया था लेकिन राजनीति के कारण 2021 में सरकार को लॉकडाउन लगाने में काफी विचार विमर्श करना पड़ा जिस कारण लॉकडाउन लगने में देर हो गई और कोविड-19 पर नियंत्रण छूट गया सरकार का।
यह देखते देखते समस्या का रूप लेकर पूरे देश के नागरिकों को परेशान कर रही है।
कोविड-19 में जिस कारण डॉक्टरों ने अपने देश की सेवा की उसको हम कभी नहीं भूल सकते डॉक्टरों को भारत में भगवान का रूप माना जाता है और वास्तव में कोविड-19 के संक्रमण के दौरान डॉक्टरों ने अपना भगवान के समान रूप दिखाया है जिस कारण इतने अधिक लोग ठीक हो सके और भारत का रिकवरी रेट काफी उच्च कोटि का रहा।
कोविड-19 से बचाव के लिए डॉक्टरों द्वारा दी गई सलाह पर ध्यान दें और मास्क 😷 जरूर पहने और 2 गज की दूरी मास है जरूरी जो कि भारत का कोविड-19 के दौरान स्लोगन था जिस कारण कोविड से बचा जा सकता है और हाथों को धोते रहें सैनिटाइजर से या फिर साबुन से धोते रहें जिस कारण आपके हाथ से आपके शरीर में प्रवेश ना कर सके घर से बाहर तभी निकले जब आपका कोई जरूरी काम हो अन्यथा आप घर पर ही विश्राम करें।
एक प्रमुख बात अपने खान-पान पर विशेष ध्यान रखें खानपान से आपका इम्यून सिस्टम मजबूत होता है जिस कारण आपको कोविड से लड़ने में काफी मदद मिलेगी अपनी इंयूनिटी बढ़ाने के लिए नियमित तौर पर रोज योगा करें खानपान का विशेष ध्यान दें जिसमें लहसुन का प्रयोग करें और इम्युनिटी बढ़ाने का एक महत्वपूर्ण उपाय है गिलोय। गिलोय का पानी पिए और उबला हुआ जल का इस्तेमाल करें हमेशा।
दालचीनी का पानी उबालकर पीएं दालचीनी खाने से आपके गले में कफ जमा नहीं होता जिस कारण आपका गला स्वस्थ रहेगा और आप के बीमार होने की संभावना कम हो जाएंगी।
लॉन्ग का इस्तेमाल करें और फल सब्जियां अधिक खाएं खट्टी चीजों का सेवन अधिक करें।
जैसे कागजी नींबू का जूस रोज सुबह उठकर पिये जिससे आपके शरीर मैं अन्य बीमारी ना होने का डर भी खत्म हो जाएगा।

अगर आपको कोरोना पॉजिटिव पाए जाते हैं तो घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है बस आपने इतना करना है कि खुद को होम कावारंटिंन कर लेना है और ना किसी से मिलना है घरवालों के संपर्क में नहीं आना है और बार-बार हाथ धोते रहना है जिससे आप से या कोरोनावायरस दूसरे को संक्रमित ना कर सके। खाने पर विशेष ध्यान रखें क्योंकि खाना ही है जो आपको स्वस्थ कर सकता है तो भरपूर मात्रा में भोजन करें अच्छा भोजन करें और अपने शरीर के तापमान को नियंत्रित रखें अगर आप अपने शरीर के तापमान को नियंत्रित नहीं रख पा रहे हैं तो आप हॉस्पिटलाइज्ड हो जाएं और अगर आप को सांस लेने में प्रॉब्लम हो तब भी आप हॉस्पिटल की तरफ रुख करें!
बहुत से लोग ऐसे हैं जो घर में रहकर भी स्वस्थ हो गए हैं।
अपनी बारी आने पर वैक्सीनेशन जरूर कराएं सरकार द्वारा वैक्सीनेशन फ्री कराया गया है जनसंख्या अधिक होने के कारण काफी विलंब हो पा रहा है वैक्सीनेशन जिससे आपने घबराना नहीं है यह आप के भले के लिए हैं।
अपनी बारी का सिर्फ इंतजार करना है सरकार पर भी बहुत जिम्मेदारी है तो सरकार को कोसने की बजाय खुद को घर पर सुरक्षित और महफूज करें।
अगर आपको कोरोना और वैक्सीन के बारे में ज्ञान हैं तो आप इसके बारे में अधिक से अधिक लोगों को बताएं ताकि लोगों के मन में अच्छी विचारधारा आए और उनका मानसिक तनाव कम हो
और वह अधिक स्वस्थ रह सकें।
सरकार को बार-बार बोलना ना पड़े वैक्सीनेशन के लिए आप भी देश के नागरिक हैं तो आप भी इस में अपना योगदान देकर देश को कोरोनावायरस में विजय बनाएं।
भारत एक दिन जरूर कोरोनावायरस को मात देकर अपनी वही खुशहाल जिंदगी में लौट आएगा जिसमें लोगों को ना मास्क लगाने की जरूरत होगी और ना ही 2 गज की दूरी की जरूरत होगी।
तो अगर आपने इस बीमारी से बाहर निकलना है तो सब को एकजुट होकर मदद करनी होगी मदद करने से कोई छोटा नहीं होता मदद करके मन को शांति मिलती है और लोग आपसे सीखते हैं।

यह बात पर तो विशेष ध्यान देना होगा कि संसार को बनाने वाला भगवान ही है अन्यथा इंसान ने इतनी तरक्की कर ली है विज्ञान के दौर में परंतु आज भी covid-19 से लड़ने का कोई उपाय नहीं बना पाया। कोविड-19 के दौरान भले ही इंसानों को नुकसान हुआ हो पर इंसान बिना पर्यावरण के जीवित नहीं रह सकता और पर्यावरण में काफी सुधार आया है जोकि सभी के लिए एक बहुत जरूरी और अच्छी बात है।

धन्यवाद में अपनी बाते यहीं समाप्त करता हूं अगर मुझसे कोई त्रुटि रह गई हो तो कृपया मुझे माफ करें और कमेंट में जरूर बताएं कि इसमें मैं क्या और जोड़ सकता था।

H2
H3
H4
3 columns
2 columns
1 column
5 Comments